ऐसी पहल हर जिले के कलेक्टर को करना चाहिए

कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और जिला प्रशासन के अधिकारी दे रहे है प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल होने की टिप्स

री-डिस्कवर इंडिया न्यूज इंदौर। जबलपुर जिला प्रशासन द्वारा यूपीएससी, एमपी पीएससी, एसएससी, रेलवे, बैंकिंग एवं अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए कैरियर गाईडेंस कार्यक्रम कलेक्टर भरत यादव की पहल पर ही प्रारम्भ किया गया है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे जबलपुर के युवाओं को कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित वरिष्ठ अधिकारियों से मार्गदर्शन और प्रशिक्षण, कैरियर गाईडेंस कार्यक्रम के तहत मिल रहा है। संघ लोक सेवा आयोग और मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण कर अधिकारी के पद का कर्तव्य निर्वहन करने वाले अधिकारियों से उनके अनुभव और मार्गदर्शन प्राप्त कर युवाओं का आत्म विश्वास बढ़ रहा है और उनमें अपनी सफलता के लिए विश्वास मजबूत हो रहा है। प्रतियोगी युवाओं का कहना है कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों के संबंध में अब उन्हें किसी भी तरह की शंका नहीं है। वे पूरे मनोयोग से परीक्षा की तैयारी कर पा रहे हैं।
जिला प्रशासन द्वारा प्रारम्भ किए गए कैरियर गाईडेंस कार्यक्रम के तहत पिछले रविवार 24 नवम्बर को कलेक्टर भरत यादव ने मॉडल स्कूल पहुंचकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं की क्लास ली। श्री यादव ने इस अवसर पर अपने अनुभव सुनाए। उन्होंने परीक्षाओं के लिए विषय के चयन को सबसे महत्वपूर्ण बताते हुए युवाओं से कहा कि विषय वही चुने जिनमें उन्हें ज्यादा रुचि हो और अपने आपको मजबूत मानते हो।
कलेक्टर ने कहा कि युवाओं को चयनित विषयों का बार-बार और गहराई से अध्ययन भी करना होगा। हर बार उन्हें कोई न कोई नई चीज जानने और समझने को मिलेगी। युवाओं को अपने आप पर विश्वास करना होगा, लेकिन अति आत्मविश्वास से बचना होगा।
श्री यादव ने युवाओं को प्रतिदिन की पढ़ाई का शेड्यूल तय करने और अनुशासन में रहकर उसका पालन करने की समझाईश भी दी। उन्होंने कहा कि हो सकता है आपके ऊपर सामाजिक दबाब भी हो, लेकिन उन्हें कौन क्या कह रहा है इसकी परवाह नहीं करनी है। श्री यादव ने कहा की छात्रों का फोकस सिर्फ पढ़ाई, मेहनत और लक्ष्य को पाने का होना चाहिए। सफल होने पर वे ही लोग सबसे पहले शुभचिंतक बनकर आपके सामने खड़े दिखाई देंगे जो तैयारियों के दौरान हतोत्साहित करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे ।
श्री यादव ने युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों पर सीनियर्स से मार्गदर्शन लेने और उनके अनुभव का लाभ उठाने की सलाह भी दी। कलेक्टर ने कहा कि उन्हें अपने साथियों से भी तैयारियों को लेकर लगातार सलाह-मशविरा करते रहना चाहिए। आपस में चर्चा करने से एक दूसरे का ज्ञान भी बढ़ेगा और कठिनाई का निराकरण भी होगा।

अब गुरुवार, शुक्रवार को भी लगेंगी कक्षाएं

कैरियर गाइडेंस कार्यक्रम के संयोजक सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग आशीष दीक्षित ने बताया कि एमपी पीएससी की 12 जनवरी को आयोजित प्रारंभिक परीक्षा के मद्देनजर कलेक्टर भरत यादव के निर्देश पर अब प्रत्येक गुरुवार और शुक्रवार को भी सुबह 8.30 बजे से कैरियर गाइडेंस की कक्षाएं लगाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि गुरुवार एवं शुक्रवार को भी कैरियर गाइडेंस की कक्षाएं लगाने का मुख्य मकसद एमपी पीएससी परीक्षा का कोर्स पूरा कराना है। श्री दीक्षित के मुताबिक शनिवार और रविवार की कक्षाएं यथावत् तय समय पर लगाई जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *