अरबो रूपये की सरकारी छात्रवृत्ति हजम कर जाने वाली मध्यप्रदेश की प्राइवेट यूनिवर्सिटीया देश की सर्वश्रेष्ठ 200 यूनिवर्सिटी के आखिरी पायदान में भी नहीं है !?
@ प्रदीप मिश्रा री डिस्कवर इंडिया न्यूज़ इंदौर
  • वैष्णव ,सेज ,ओरिएण्टल ,मेडीकेप्स ,अरविंदो , प्राइवेट यूनिवर्सिटीयो के अलावा प्रेस्टीज एवं आई .पी एस जैसे ग्रुप कालेज के इंजिनीरिंग ,मैनजमेंट,लॉ और आर्किटेक्चर कालेज देश के सर्वश्रेष्ठ कालेजो की नेशनल इंस्टीट्यूट आफ रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF )में नाकाबिल साबित हुए !?
इंजिनियरिंग ,मेडिकल ,डेंटल ,मैनजमेंट ,लॉ ,फार्मेसी ,आर्कीटेक्ट का कोई भी शेक्षणिक संस्थान या यूनिवर्सिटी अपने आप को इस काबिल न बना सका की वह देश के सर्वश्रेष्ठ 200 शेक्षणिक संस्थानों में अपनी जगह बना सके !?
भारत सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा हर साल देश के समस्त शिक्षण संस्थानों को संचालित करने वाली राज्यों और केंद्र की यूनिवर्सिटीयो और कालेजो को उनकी शेक्षणिक गुणवत्ता और ओवरआल परफार्मेंस के आधार पर रैंकिंग निर्धारित करती है .
15जुलाई 2022 को भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क की वर्ष 2022 की रैंकिंग के जारी किये गए नतीजो में मध्यप्रदेश की एक भी प्राइवेट या सरकारी यूनिवर्सिटी देश के टॉप 200 शेक्षणिक संस्थानों में अपनी काबिलियत के बल पर शुमार न हो सकी !*
  • इंजिनीरिंग ,मैनजमेंट ,लॉ ,फार्मेसी ,आर्कीटेक्ट का कोई भी शेक्षणिक संस्थान या यूनिवर्सिटी अपने आप को इस काबिल न बना सका की वह देश के सर्वश्रेष्ठ 200 शेक्षणिक संस्थानों में अपनी जगह बना सके !?
विश्वविद्यालयों की टॉप-100 की रैंकिंग में तमिलनाडु 21,महाराष्ट्र 13, कर्नाटक 12, उत्तरप्रदेश 8,दिल्ली 6, आंध्रप्रदेश 6,पंजाब 5,पश्चिम बंगाल 4, केरल 4,हरियाणा 3,ओड़ीशा 3,राजस्थान ,असम ,उत्तराखंड तेलंगाना और पोंडिचेरी राज्यों की 2-2, के अलावा झारखण्ड ,गुजरात मेघालय ,मिजोरम की 1-1 यूनिवर्सिटी ने देश की टॉप 100 यूनिवर्सिटी में अपनी जगह बनाई है!
मध्यप्रदेश में सिर्फ रायसेन की रविन्द्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी ही 150 से 200 रैंकिंग में अपनी जगह बना पायी है!
@ प्रदीप मिश्रा री डिस्कवर इंडिया न्यूज़ इंदौर

Leave a Reply

Your email address will not be published.