@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यू्ज इंदौर
  • कुकुरमुत्तो की तरह प्रदेश में फर्जी, अवैध नर्सिंग कॉलेजों को मान्यता दे रखी है मध्यप्रदेश सरकार ने!?
  • करोड़ो रुपए की छात्रवृत्ति हड़पने का सुनियोजित खेल खेला जा रहा है प्राइवेट नर्सिंग कालेजो की आड़ में!?
  • बार बार रिमाइंडर भेजने के बाद भी प्राइवेट अस्पतालो ने अपनी पिछले 3 साल की बेलेंस शीट और इंकम टेक्स रिटर्न के दस्तावेज नर्सिंग कालेजो के माध्यम से मध्यप्रदेश सरकार को जमा नहीं करवाए है!
  • प्राइवेट अस्पतालो और प्राइवेट नर्सिंग कालेजो के इस अपराधिक गठजोड़ के खिलाफ तत्काल जांच कर अपराधिक मुकदमा कायम करे सरकार!
  • मध्यप्रदेश के तकरीबन सभी जिलों में कुकुरमुत्तो की तरह चल रहे नर्सिंग स्कूल और कालेजो को अस्पतालों में काम करने वाली नर्सो, और सहायक नर्सो के लिए विभिन्न कोर्स जैसे (ANM–Auxiliary Nursing and Midwifery ), GNM–(General Nursing and midwifery), B. Sc नर्सिंग, Pb B. Sc नर्सिंग और M. Sc नर्सिंग डिग्री और डिप्लोमा कोर्स संचालित करने के लिए मान्यता देने का काम, मध्यप्रदेश नर्सेस रजिस्ट्रेशन काउन्सिल मध्यप्रदेश सरकार बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार कर प्रत्येक प्राइवेट नर्सिंग कालेज से लाखो रुपए की रिश्वत और राजनीतिक दवाब के तहत कर रहा है!?
इन फर्जी प्राइवेट नर्सिंग कालेजो के पास न तो खुद की कोई बिल्डिंग है! न कोई योग्यता प्राप्त टीचर, लेक्चरर और प्रोफेसर है!? न ही खुद के अस्पताल है!?*
4 साल के डिग्री कोर्स और 3 से लेकर साढ़े तीन साल के डिप्लोमा कोर्सेस की फीस 4 से लेकर 5 लाख रुपए प्रति छात्र वसूल रहे इन फर्जी प्राइवेट नर्सिंग कालेजो के द्वारा बड़े पैमाने पर सरकार द्वारा एससी /एसटी /ओबीसी छात्रों को दी जा रही फीस के नाम पर छात्रवृत्ति हड़पने का अपराधिक कृत्य किया जा रहा है!?
@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.