डॉ विनोद भंडारी और डॉ मंजूश्री भंडारी के अरविंदो अस्पताल की संस्थापक सोसाइटी श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति मे चल रही है उठा पटक और अवैध गतिविधियां!?
@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यूज़  इंदौर
तथाकथित वरिष्ठ पत्रकार के कालेज को 100 करोड़ रुपये की बेशकीमती सोसाइटी की जमीन अवैध रूप से से दान कर फायदा पहुंचाया क्यों !?
बिना 1 रुपया निवेश किए कैसे क्यों और किसलिए इंदौर के सबसे बड़े प्राइवेट अस्पताल अरविंदो हॉस्पिटल में 19 साल रहा एक पत्रकार पार्टनर!?
डॉ मंजूश्री भंडारी, डॉ महक और मोहित भंडारी की आड़ में व्यापमं कांड का मुख्य आरोपी डॉ विनोद भंडारी श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति (सोसाइटी) मे कर रहा है अवैध रूप खेल!?
श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति जो मध्यप्रदेश सोसाइटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम के तहत सन 2003 मे रजिस्ट्रार फर्म एंड सोसाइटी भोपाल मध्यप्रदेश मे रजिस्टर्ड है! के संस्थापक सदस्य उमेश त्रिवेदी और उनकी पत्नी रश्मि त्रिवेदी को सोसाइटी की तकरीबन 100 करोड़ रुपए की बेशकीमती उज्जैन रोड ग्राम भौरासला तहसील साँवेर जिला इंदौर स्तिथ खसरा नंबर 26/2 रकबा 1.186 हैक्टेयर, व खसरा नंबर 25 /3 रकबा. 065 हेक्टेयर जमीन और उसपर निर्मित तीन मंजिल भवन दानपत्र के माध्यम से दान के रूप में दे दी. गौरतलब है कि दान पत्र का पंजीयन शुल्क और स्टाम्प ड्यूटी के तकरीबन 3 करोड़ रुपये का भी भुगतान श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति द्वारा किया गया!
खास बात यह है कि दिनांक 27 /03/2020 को श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति के उपाध्यक्ष पद और सदस्यता से उमेश त्रिवेदी और कोषाध्यक्ष पद के साथ ही सदस्यता से उनकी पत्नी श्रीमती रश्मि त्रिवेदी ने भी त्यागपत्र दे दिया था.
तो फिर संस्थापक सदस्य और उपाध्यक्ष उमेश त्रिवेदी और उनकी पत्नी कोषाध्यक्ष श्रीमती रश्मि त्रिवेदी के त्यागपत्र देने के 7 महीने बाद श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति(सोसाइटी) ने 7/11/2020 को कार्यालय रजिस्ट्रार फर्म्स एवं संस्थाएँ विन्ध्याचल भवन भोपाल को उपरोक्त बेश कीमती जमीन को श्री अरविंदो इंस्टिट्यूट ऑफ मेनजमेंट साइंस एंड टेक्नोलॉजी को दान देने के लिए प्रस्ताव क्यों, कैसे और किस आधार पर भेजा!?*
और किस कानून के तहत कार्यालय रजिस्ट्रार फर्म्स एवं संस्थाएँ विन्ध्याचल भवन भोपाल के अधिकारियों ने दान के इस प्रस्ताव को मान्यता दे दी!?
उज्जैन रोड स्थित अरविंदो अस्पताल जो श्री अरविंदो मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस समिति के द्वारा संचालित है मे व्यापम कांड का मुख्य आरोपी डॉ विनोद भंडारी के द्वारा अपनी पत्नी डॉ मंजूश्री भंडारी को चेयरमैन, व दोनों पुत्रों डॉ महक और डॉ मोहित भंडारी को जनरल सेक्रेटरी और वॉयस चेयरमैन के अलावा पुत्र वधु डॉ श्वेता भंडारी को कोषाध्यक्ष नियुक्त कर उनकी आड़ में सोसाइटी की बेश कीमती जमीनों, फंड, सरकारी फंड आदि का छल, कूट रचित दस्तावेजों और भ्रष्टाचार कर अवैध रूप से धन निकाल कर दूसरे कामों में लगाया जा रहा है! इसकी गहन जांच होना अति आवश्यक है!
@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यू्ज इंदौर

Leave a Reply

Your email address will not be published.