@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यू्ज इंदौर
देश के केंद्रीय क्रषी और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र तोमर(narendra tomar ) ने कुछ महीने पहले लोक सभा में एक प्रश्न के उत्तर में यह जवाब दिया कि देशभर में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (pradhanmantri kisan nidhi yojna)योजना के तहत 42 लाख से ज्यादा अपात्र किसानो के खातों में 29 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि ट्रांसफर कर दी गई है! अब उसे वसूलने के प्रयास किए जा रहे हैं!?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (narendra modi )हमेशा अपनी सरकार को गुड गवर्ननेस की सरकार बताते हैं! वही दूसरी तरफ आम जनता से परोक्ष और अपरोक्ष रूप से टैक्स के माध्यम से सरकारी खजाने में जुटाए गए पैसो की बर्बादी सरकारी योजनाओं मे मोदी के डिजिटल युग के भारत में किस तरह की जा रही है उसकी बेजोड़ और शर्मनाक मिसाल है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना!!
इस योजना के तहत भारत के 12 करोड़ ऐसे छोटे किसानो के परिवारो को 500 रुपए प्रतिमाह के हिसाब से कुल 6 हजार रुपए, तीन मासिक किश्तों मे साल भर में दिए जाएंगे! दिसंबर 2018 से शुरू की गई इस योजना में सरकार हर साल 75 हजार करोड़ रुपये सरकारी खजाने से किसानो के बैंक खातों में डाल रही है! अगले 5 सालो में इस योजना के माध्यम से कुल 3 लाख 75 हजार करोड़ रुपये सरकारी खजाने से किसानो को इस बेताहाशा बढ़ती महंगाई के दौर में ऊँट के मुह मे जीरे की तरह से डाल दिए जाएंगे!?
भारत जैसे अविकसित, अशिक्षित, आधारभूत स्ट्रक्चर विहीन देश जहा पर गाओ, और कस्बों में न अच्छे अस्पताल है? न अच्छे स्कूल है? न ही पीने का साफ पानी? न ही ट्रांसपोर्ट के पर्याप्त साधन? ऐसे देश में हर साल 75 हजार करोड़ रुपये के हिसाब से 5 सालो में कुल 3.75 हजार करोड़ रुपए! 500 रुपए महीने के हिसाब से 12 करोड़ किसान परिवारों को देने से क्या मिलेगा!? क्या करेंगे इन 500 रुपए से पूरा परिवार!? ये तो सीधे सीधे हर साल जनता से टैक्स के रूप में जुटाए 75 हजार करोड़ रुपए को बर्बाद करना है!?
@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यू्ज इंदौर

Leave a Reply

Your email address will not be published.