देश का निम्न और मध्यम वर्ग अपनी औकात से बाहर जाकर धनाढ्य वर्ग की लाइफ स्टाइल जीने के लिए बैचैन है! यह उनके लिए न सिर्फ खतरनाक है वरन आत्मघाती भी है!

@प्रदीप मिश्रा री डिसकवर इंडिया न्यू्‍ज इंदौर

  • *इतना हल्ला क्यों हैं बढ़ती पेट्रोल कीमतों और महंगाई पर!?*
  • सरकार नही खुद देश की जनता जिम्मेदार है महंगाई के लिए!

अखिर पिछले 20 – 25 सालो में ऐसा क्या हो गया कि भारत का मध्यम वर्ग और निम्न मध्यम वर्ग अपनी आय की औकात से बढ़कर रईसो और धनाढ्य वर्ग के लोगों की लाइफ स्टाइल की नकल क्यों कर रहा है!?

Excited young people go shopping on the street of Hong Kong

भारत का मिडल क्लास, धनाढ्य वर्ग की लाइफ स्टाइल क्यों जीना चाहता है! इसे कार, बच्चों के लिए महंगे स्कूल, महंगी कोचिंग, टू व्हीलर, क्यों चाहिए!? भारत के निम्न मध्यम वर्ग और मध्यम वर्ग के युवाओं मे तेजी से बढ़ती शराबखोरी, होटल बाजी, नाश्ते और फास्ट फूड की दुकानों पर जमावड़ा! बढ़ता पार्टी कल्चर फिर चाहे वह जन्मदिन हो, शादी की सालगिरह हो, वीकेंड पार्टी हो या न्यू ईयर पार्टी हो ! *आज भारत का करीब करीब हर परिवार बिना अपनी शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक योग्‍यता और सामर्थ्य को समझे उच्च और धनाढ्य वर्ग की हर बात की बराबरी करने के लिए इतना पागल हो रहा है कि धनाढ्य वर्ग के द्वारा उपयोग और इस्तेमाल करने वाली हर वस्तु, लाइफ स्टाइल को कर्जे से भी लेने मे अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा है!?* धनाढ्य वर्ग के बंगलेनुमा घर की सजावट और बनावट को अपने मात्र 750 वर्ग फुट से लेकर 1500 वर्ग फुट के घर में लगाने के लिए बेचैन है! आज से 25 साल पहले निम्न, मध्यम और धनाढ्य वर्ग मे एक आर्थिक सीमा रेखा थी! इसलिए समाज आर्थिक रूप से सुखी, संपन्न और स्वाभिमानी था.

री डिसकवर इंडिया न्यू्‍ज इंदौर*

Leave a Reply

Your email address will not be published.