नोटबंदी जैसा एक और ‘बड़ा कदमÓ उठाने की तैयारी में मोदी सरकार

आप के घर में कितना सोना है अब ये सरकार ‘मोदी’ को बताना होगा !

नई दिल्ली। मोदी सरकार एक बार फिर नोटबंदी जैसा बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही है। इस बार नोट बंद नहीं होंगे परंतु कालेधन पर लगाम कसने के लिए लोगों से उनके पास मौजूद सोने का हिसाब मांगा जा सकता है।
विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार काला धन से सोना खरीदने वालों पर लगाम लगाने के सरकार खास स्कीम लाने की तैयारी में है। चैनल ने सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, इनकम टैक्स की एमनेस्टी स्कीम के तर्ज पर सोने के लिए एमनेस्टी स्कीम (आप के पास जितना सोना है वो सरकार द्वारा नियुक्त एजेंसी के सामने खुलासा करे) ला सकती है।
इसके तहत एक तय मा

त्रा से ज्यादा बगैर रसीद वाले सोने की जानकारी सरकार को देनी होगी। साथ ही सोने की कीमत का खुलासा भी करना होगा।
इस स्कीम के तहत सोने की कीमत तय करने के लिए वैल्युएशन सेंटर से सर्टिफिकेट लेना होगा। बगैर रसीद वाले जितने सोने का खुलासा करेंगे उस पर एक तय मात्रा में टैक्स देना होगा। ये स्कीम एक खास समय सीमा के लिए ही खोली जाएगी। स्कीम खत्म होने के बाद तय मात्रा से ज्यादा सोना पाए जाने पर भारी जुर्माना लगेगा।
कहा जा रहा है कि वित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स विभाग और राजस्व विभाग ने मिलकर इस स्कीम का मसौदा तैयार किया है। वित्त मंत्रालय ने अपना प्रस्ताव कैबिनेट के पास भेजा है। जल्द कैबिनेट से इसको मंजूरी मिल सकती है। अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में ही कैबिनेट में इस पर चर्चा होनी थी। महाराष्ट्र और हरियाणा के राज्य चुनाव की वजह से आखिर समय पर फैसला टाला गया।
सरकार के इस कदम से देश में सोने के दाम गिरने की भी संभावना है। काले धन से सोना खरीदने वाले सावधान हो जाएं। मंदिर और ट्रस्ट के पास पड़े सोना को भी उत्पादक निवेश के तौर पर इस्तेमाल करने के खास एलान हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.